POSTS

Rounded Image

Decoding Patriarchy

 

व्याह के विदा ही कर दी गईं... 

बच्चे पति के नामलेवा ही करवाये गए... 

खुद के बापके को शादी के बाद दूसरे नंबर पर  ही रखवाया गया.. 

फिर, उससे भी, उसकी पाली पोसी बेटी विदा करवा, किसी अंजान द्वारा पाली बेटी (बहू) दी गई... 

हांजी...वो ही माँ जो अपने बच्चों के प्रेम मे ममतामई स्थापित करवाई गई... उसी की मादा भ्रूण हत्या करवाई... फिर अगर बची तो व्याह के विदा.... 

रुको रुको.... 

अभी खत्म नहीं हुआ ... 

अगर खुद की शादीशुदा बेटी दुखी हो तो, उसकी खुद की माँ ही उस से बात न करे, यही अपेक्षा ही नहीं आदर्श स्थिति भी... 

सभी बेटिओं को इसी प्रोसेस मे झोंका गया... 

अविवाहित रहने ही नहीं दिया गया कि गर्भवति हुई तो certified बाप मुकर जायेंगे... 

भले इन सब से गुजरने के बाद.... वो 40+ की होते होते कंट्रॉलिंग/डोमिनेटिंग या धूर्त औरत बन जाए... 

फिर.... औरत औरत की दुश्मन मे, उदाहरण भी सास बहू नंद भाभी के ही देने हैं... 

अरे हाँ.... माँ बहन बेटी को भी तो झगड़े के चर्चे समाज मे आम घटना है ????????

क्रमशः...... या एंड लेस लूप.... 

चक्करघिनि

बाकि दोस्त तो कोई किसी का नहीं.... SURVIVAL TO THE FITTEST सब पे लागू... Irrespective of any species... 

#DECODINGPATRIARCHY

 

रंजीत कौर